Home Bollywood Hindi मैं अपनी दुश्मनी क्यों न निकालूं? मैं उन्हें नहीं मारूंगी तो वो...

मैं अपनी दुश्मनी क्यों न निकालूं? मैं उन्हें नहीं मारूंगी तो वो मुझे मार देंगे- सुशांत की मौत के बहाने अपना एजेंडा चलाने के आरोप पर बोलीं कंगना

17
0

कंगना रनोट ने बॉलीवुड की उस गैंग को जमकर फटकार लगाई है, जो उन पर सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस के बहाने अपना एजेंडा चलाने का आरोप लगा रहे हैं। जो यह कह रहे हैं कि कंगना इस बहाने सिर्फ अपनी दुश्मनी निकाल रही हैं और जो उन्हें चुप रहने की सलाह दे रहे हैं। कंगना ने एक इंटरव्यू के दौरान ऐसे लोगों पर जमकर गुस्सा जाहिर किया और कहा कि वे (कंगना) अगर मनाली की जगह मुंबई में होतीं तो उन्हें कभी का मारकर लटका दिया गया होता।

मैं उन्हें नहीं मारूंगी तो वो मुझे मार देंगे: कंगना

रिपब्लिक भारत से बातचीत में कंगना ने भड़ास निकालते हुए कहा- मैं तो यहां मनाली में हूं, अगर मुंबई में होती तो कब का इन्होंने मुझे पंखे से लटका दिया होता। जब मैंने इनके खिलाफ पहली बार राज खोले थे, तब इन्होंने बहुत कोशिश की थी कि किसी तरह मुझे जेल में डलवा दें या मरवा डालें। तभी तो आज मैं सुशांत के लिए खड़ी हो पा रही हूं। अगर मैंने उस समय आवाज नहीं उठाई होती तो आज तो शायद इतना कुछ बताने को नहीं होता। मैं तो कितने सालों से बताती आ रही हूं।

कुछ लोग यह कह रहे हैं कि मैं अपनी पर्सनल दुश्मनी निकालना चाहती हूं। क्यों न निकालूं मैं अपनी दुश्मनी? ये मैंने मणिकर्णिका की रिलीज के बाद कहा था कि मेरे लिए यह करो या मरो की स्थिति है। मैं क्यों मरूं? मैं मार कर निकलूंगी। मैं मरूंगी नहीं। कौन हैं वो लोग जो मुझे कहते हैं कि तुम अपनी दुश्मनी निकाल रही हो? अगर मैं अपने दुश्मनों को खत्म न करूं तो वो मुझे खत्म कर देंगे। मैं तो अपने दुश्मनों को खत्म करूंगी।

‘जहां चाहूं, वहां काम कर सकती हूं’

कंगना आगे कहती हैं – आप कौन होते हैं मुझे यह कहने वाले कि सुशांत केस में कंगना क्यों कूद रही हैं? मैं क्यों न कूदूं? जब मुझे ये लोग जान से मारने की कोशिश कर रहे हैं। मुझे घसीटा गया। मुझे पागल घोषित किया गया। तो मैं क्यों न इसमें आऊं। ऐसे लोगों को मैं सिर्फ एक ही बात कहना चाहती हूं कि अपना मुंह बंद रखिए। आप मुझे मेरे मौलिक अधिकारों के लिए लड़ने से नहीं रोक सकते। ये मेरे लोकतांत्रिक अधिकार हैं।
मैं जहां चाहूं, वहां काम कर सकती हूं। मैं जहां चाहूं, वहां जिंदा रह सकती हूं। किसी को हक नहीं है मुझे पागल घोषित करने का। और तुम लोगों का हक नहीं है मुझे यह कहना कि तुम चुप रहो, तुम इसमें मत पड़ो। मेरी जिंदगी मेरी है। मुझे जीने का अधिकार है। और यह सुशांत के बारे में है। लेकिन यह मेरे बारे में भी है। यह जान लीजिए और दोबारा यह मत बोलिए।

कंगना ने ट्विटर पर भी दी चुनौती

कंगना रनोट ने ट्विटर पर भी अपने हेटर्स को चुनौती दी है। उन्होंने लिखा है, “उन सभी के लिए जो मुझे बर्दाश्त करते देखना चाहते हैं। जो सुशांत की बुलिंग और हैरेसमेंट की शिकायतों को नजरअंदाज करते हुए मुझे कह रहे हैं कि यह मेरे बारे में नहीं है। कृपया अपना मुंह बंद रखिए।”

Download Newsnfeeds App to read Latest Hindi News Today

कंगना रनोट ने उन लोगों को फटकार लगाई है। जो ये कह रहे हैं कि कंगना सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस के बहाने अपना एजेंडा चला रही हैं।